जनवरी अट्ठाइस

हम तुम्हारे यादों में हो नहीं तो सही
तुम हमारे यादों में जरूर हो
हर दिन

इसकी कीमत न तोल सकते हो तुम
न हम इस पर लगा सकते हैं कोई मोल

 

लगता है कभी इन नाच गानों में
तुम्हारा बहुत गहरा राज है

मगर सच्चाई जाने बिना मै
यकीन भी तो नहीं कर सकता

बस खुश हो
हमारे लिए ये ही काफी है

Posted in Heartbeat | Leave a comment

WordPress speaks to me

अजीब बात है
और वर्डप्रेस बधाई दे रहा है मुझे
पांच साल वर्डप्रेस पे रहने की
पांच साल तुम से दूर रहने की

वो दर्द की याददाश्त की

खैर – हम पास थे ही कहाँ
मेरे ख़्वाबों के सिवाए

इतने साल गुजर गए कि
रास्ते में अगर मिल भी जाये
तो न पहचान ने की
कोशिश भी नहीं करनी पड़े !

शायद कोई गलती से
अनजान समझ कर
मुस्कुरा ही दो
जिंदगी बिताने के लिए वो ही काफी है

Posted in Heartbeat | Leave a comment

Distance

इतने पास होकर भी कितने दूर हो
इतने दूर होकर भी कितने करीब हो
ठण्ड के मौसम में आया हूँ
मगर पता लगा कि दिल की ठंडक
अभी दूर नहीं हुई है
चार साल में एक डिग्री तो बढ़ जाती है
हम भी वोह हैं जो दिल बहलाने और
दिल पिघलाने की कोशिश नहीं छोड़ते!

Posted in Heartbeat, Poetry | Leave a comment

Paaon chhoolene do phoolon ko inayat hogi – TAJ MAHAL

Movie: Taj Mahal (1963)
Singers: Lata Mangeshkar, Mohammad Rafi

Paanv Chhuu Lene Do Phuulon Ko Inaayat Hogii, Inaayat Hogii
Varanaa Hamako nahiin, Inako Bhii Shikaayat Hogii Shikaayat Hogii
Aap Jo Phuul Bichhaaen Unhen Ham Thukaraaen – 2

Hamako Dar Hai Hamako Dar Hai Ke Ye Tauhiin-E-Muhabbat Hogii, Muhabbat Hogii
Paanv Chhuu Lene Do

Dil Kii Bechain Umangon Pe Karam Faramaao – 2
Itanaa Ruk Ruk Itanaa Ruk Ruk Ke Chaloge To Qayaamat Hogii, Qayaamat Hogii

Paanv Chhuu Lene Do

Sharm Roke Hai Idhar, Shauk Udhar Khiinche Hai – 2
Kyaa Khabar Thii Kyaa Khabar Thii Tabhii Is Dil Kii Ye Haalat Hogii Ye Haalat Hogii

Paanv Chhuu Lene Do

Sharm Gairon Se Huaa Karatii Hai Apanon Se nahiin – 2
Sharm Ham Se Sharm Ham Se Bhii Karoge To Musibat Hogii, Musibat Hogii

Paanv Chhuu Lene Do

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी , इनायत होगी
वरना हमको नहीं , इनको भी शिकायत होगी शिकायत होगी
आप जो फूल बिछाएं उन्हें हम ठुकराएं – 2

हमको दर है हमको दर है के ये तौहीन -इ -मुहब्बत होगी , मुहब्बत होगी

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी , इनायत होगी
वरना हमको नहीं , इनको भी शिकायत होगी शिकायत होगी

दिल की बेचैन उमंगों पे करम फ़रमाओ – 2
इतना रुक रुक इतना रुक रुक के चलोगे तो क़यामत होगी , क़यामत होगी

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी , इनायत होगी
वरना हमको नहीं , इनको भी शिकायत होगी शिकायत होगी

शर्म रोके है इधर , शौक उधर खींचे है – 2
क्या खबर थी क्या खबर थी तभी इस दिल की ये हालत होगी ये हालत होगी

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी , इनायत होगी
वरना हमको नहीं , इनको भी शिकायत होगी शिकायत होगी

शर्म गैरों से हुआ करती है अपनों से नहीं – 2
शर्म हम से शर्म हम से भी करोगे तो मुसीबत होगी , मुसीबत होगी

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी , इनायत होगी
वरना हमको नहीं , इनको भी शिकायत होगी शिकायत होगी

Posted in Heartbeat | Leave a comment

Earthquakes and Volcanoes

Nepal Earthquake

https://encrypted-tbn2.gstatic.com/images?q=tbn:ANd9GcS_F_w0cjN3gAtOM0milFAVL9oD-qkjGCOc3qdIksPke6vOjzF8

तुम किस सदी के भूकम्प हो
किस सदी के ज्वालामुखी

कितने लोग मारे गए
और कितने लोग घायल

उन अनगिनत अनजान में
हम भी मारे गए
हम भी हुए घायल

Posted in Heartbeat, Poetry | Tagged , , , | Leave a comment

Sunflower

Heart Aflutter!

Sight of this flower!

Sometimes real

Sometimes unreal

Just icons most of the time!

Just my imagination.

Are you really there?

Doesn’t matter any more

They are my thoughts

And deep breath

And a sigh!

Posted in Heartbeat | Tagged , | Leave a comment

Intuitive Mind

Beautiful Mind

मन ही की बात है

कौन जाने क्या सच है

इतनी शक्ति है इसमें

बस खुशियाँ बरसा देती है

मन ही की बात है

कौन जाने क्या सच है

मंदिर, मूरत बनाकर

शायद लोग इसी लिए पूजते हैं

मन ही की बात है

कौन जाने क्या सच है

ना कभी आँखों से देखा है

ना कानों से सूना है

मन ही की बात है

कौन जाने क्या सच है

इशारों को मान कर आये हैं

पूरी सच्चाई समझकर

मन ही की बात है

अपनी सच्चाई तो यही है

Posted in Heartbeat | Tagged , , , , , | Leave a comment